June 28, 2020 Team 0Comment

तुर्की के इस्तांबुल में स्थित हागिया सोफिया दुनिया की सबसे पुरानी इमारतों में से एक है, जो आज भी अच्छी हालत में है। सन 537 से लेकर सन 1453 तक यह एक ग्रीक ऑ’र्थोडॉ’क्स चर्च था। सन 1453 से 1931 तक इसे ऑटोमन मॉस्क में बदल दिया गया। फिर 1935 से इसे एक म्यूजियम बना दिया गया है। अपने विशाल गुंबद के कारण यह तुर्की का बहुत प्रसिद्ध स्थान है। इसकी मीनारें इसे म’स्जि’द बनाने के दौरान बनाई गई थीं।

तुर्की के उप विदेश मंत्री यावुज़ सेलिम किरन ने पुष्टि की कि तुर्की देश की सांस्कृतिक और धा’र्मिक विरासत की रक्षा करना जारी रखेगा, और हागिया सोफिया के बारे में कोई भी निर्णय तुर्की का एक आंतरिक निर्णय है। उनका ये जवाब शुक्रवार को अमेरिकी विदेश विभाग में धा’र्मि’क स्वतंत्रता के राजदूत सैम ब्राउनबैक के हागिया सोफिया के बारे में दिये बयान के जवाब में आया है।

Hagia
Photo by Sumit/karehop via Getty Images

किरन ने कहा, “ब्राउनबैक की चिं’ता न करें, तुर्की अपनी सां’स्कृति’क और धा’र्मि’क विरासत की रक्षा करना जारी रखेगा और हागिया सोफिया के बारे में कोई भी फैसला तुर्की का आंतरिक निर्णय है।”उन्होने बताया कि तुर्की विश्व विरासत सूची के 18 स्मारकों को बनाए रखता है। ब्राउनबैक ने पहले कहा था कि दुनिया भर के अरबों लोगों के लिए हागिया सोफिया का आध्यात्मिक और सां’स्कृ’तिक महत्व है।

उन्होंने तुर्की सरकार से हागिया सोफिया की स्थिति को संरक्षित करने के लिए एक संग्रहालय के रूप में सभी के लिए सुलभ होने का आह्वान किया।
हागिया सोफिया एक कलात्मक और स्थापत्य कला है, जो इस्तांबुल के सुल्तानहेम इलाके में स्थित है। स्मारक को 481 वर्षों के लिए एक म’स्जि’द के रूप में इस्तेमाल किया गया था, और 1934 में एक संग्रहालय में बदल दिया गया था।

Hagia2
Photo by Sumit/karehop via Getty Images

हागिया सोफिया को मध्य पूर्व के इतिहास में सबसे महत्वपूर्ण वा’स्तुशि’ल्प निर्माणों में से एक माना जाता है। हाल ही में तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैय्यप एर्दोगान ने कहा है कि “हागिया सोफिया को मु’स्लि’मों की सेवा के लिए खोला गया था, क्योंकि धा’र्मि’क श’त्रु’ता के कारण इसे ध’राशा’यी करने के बजाय इसे और अधिक सुंदर बना दिया गया था,” उन्होंने कहा, पू’जा के अन्य स्थानों को नहीं छुआ गया था और बनाए रखा गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *