June 28, 2020 Team 0Comment

भारत में बीते 4 महीने से पहले को’रोनावाय’रस का क’हर अभी भी कम नहीं हो पा रहा है। को’रो’ना वा’यरस सं’क्रम’ण पर कं’ट्रो’ल करने के लिए सरकार और की स्वास्थ्य संस्थाएं मिलकर कोशिशों में जुटी हुई हैं। गौरतलब है कि को’रोना के वक्त में कई त्यौहार भी निकल चुके हैं और कई त्यौहार आने वाले हैं।

कोरोना के समय में लोग त्योहार अच्छी तरह से नहीं बना पा रहे हैं। गौरतलब है कि अब कावड़ यात्रा शुरू होने में ज्यादा वक्त नहीं बचा है। वहीं ब’करी’द का त्यौहार भी आने वाला है। जिसके चलते उत्तर प्रदेश सरकार ने पहले से ही लोगों को जागरूक करना शुरू कर दिया है। आपको बता दें कि बक़रीद मुस्लिम समाज का एक महत्वपूर्ण त्यौहार माना जाता है जबकि कांवड़ यात्रा हिन्दू समुदाय के लिए विशेष है।

Kanwad
Photo by Sumit/karehop via Getty Images

कावड़ यात्रा के दौरान बड़े स्तर पर हिं’दू मु’स्लिम स’मुदाय के लोग मिलकर कां’वड़ि’यों के लिए लंगर का आयोजन करते हैं। वहीं ब’करी’द के मौके पर मु’स्लि’म स’मुदा’य के लोग मिलकर सा’मू’हिक कु’र्बा’नी देते हैं लेकिन इस बार ऐसा हो पाना नामुमकिन नजर आ रहा है।

बताया जा रहा है कि कांवड़ यात्रा और बकरीद के त्यौहार को लेकर जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा ने कलेक्ट्रेट स्थित सम्राट उद्यान सभागार में धर्मगुरुओं और अधिकारियों के साथ मिलकर एक बैठक की है जिसमें उन्होंने कहा है कि कोरोनावायरस को रोकने के लिए इस बार कावड़ यात्रा निकालने पर रो’क लगाई जा सकती है। मं’दिरों में भी एकसाथ पांच से अधिक लोग न जाएं। फि’जिकल डिस्टे’सिग का अनिवार्य रूप से पालन करें।

Bakreed
Photo by Sumit/karehop via Getty Images

ब’क’रीद के संबंध में कहा कि इस बार ब’करों की सा’मू’हिक कु’र्बा’नी नहीं दी जाएगी। लोग अपने घरों में ही कु’र्बा’नी दें। बैठक में अपर जिलाधिकारी मनोज, अपर पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार समेत कई अधिकारी मौजूद रहे। बताया जा रहा है कि डीएम ने कहा सो’शल डि’स्टेंस का पालन सुनिश्चित करने के लिए मंदि’र में एक बार में पांच व्यक्ति ही प्रवेश करेंगे। इस दौरान मा’स्क लगाए रखेंगे और से’निटाइ’जर का बराबर इस्तेमाल करते रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *